ये कैसी शराबबंदी? ताबूत के बाद कब्रिस्तान में मिली शराब, बिहार के शराब माफिया ने कब्र को बना डाला गोदाम

ये कैसी शराबबंदी? ताबूत के बाद कब्रिस्तान में मिली शराब, बिहार के शराब माफिया ने कब्र को बना डाला गोदाम

DARBHANGA: पिछले 6 साल बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। इसके बावजूद शराब तस्कर अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहे हैं। आए दिन शराब तस्करी का नया तरीका इजाद करने में लगे रहते हैं। कभी वाहनों में तहखाना बना डालते है तो कभी गैस सिडेंलर और डीजे साउंड बॉक्स में शराब रखकर तस्करी करते है। शराब की तस्करी के लिए शव वाहन में रखे ताबूत का भी इस्तेमाल करते हैं। 


ताबूत में शराब की खेप रखने का मामला पिछले दिनों नालंदा से सामने आया है। इस बार दरभंगा से एक और मामला सामने आया है। शराब तस्करों ने कब्रिस्तान को भी नहीं छोड़ा। कब्रिस्तान में शराब माफिया ने गोदाम तक बना डाला। कब्रिस्तान से शराब की बड़ी खेप मिलने से पुलिस भी हैरान रह गयी। 


कब्रिस्तान से बरामद शराब नेपाल से लाया गया था। विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के आजमनगर इलाका स्थित एक कब्रिस्तान में इन शराब की बोतलों को छिपाकर रखा गया था। कब्रिस्तान को खोदकर बने गोदाम से पुलिस ने 300 से ज्यादा शराब की बोतलें बरामद किया है। लेकिन शराब तस्करों की गिरफ्तारी नहीं हो पायी है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुटी है।